दीपक से सीखे ये बातें – Dipak Se Hame Kya Sikhana Chahiye

 हेल्लो दोस्तों आपका दिल से स्वागत हे तो आज हम दीपक के बारे में बात करने वाले हे की हम दीपक से क्या सिख सकते है? (Dipak Se Hame Kya Sikhana Chahiye) दीपक हमें क्या सिखाता हे तो आज हम इसी विषय पर बात करने वाले हे तो दोस्तों मुझे उम्मीद हे की आपको इस पोस्ट से कुछ ना कुछ नया जरूर सीखने को मिलेगा।

” दीपक इसलिए वंदनीय होता हे क्योकि वो दुसरो से नहीं, दुसरो के लिए जलाता हे “

 Dipak Se Hame Kya Sikhana Chahiye

 

दीपक से क्या सीखना चाहिए? – Dipak Se Hame Kya Sikhana Chahiye

✅ दुनिया में हर एक चीज हर एक इंसान का अलग महत्व होता हे बस फर्क सिर्फ वक्त , स्थान और परिस्थिति का हे जैसे सूरज के आगे दीपक का कोई मोल नहीं होता हे लेकिन जब सूरज ढल जाता हे और अँधेरा छा जाता हे तब अँधेरे में दीपक से महत्वपूर्ण कुछ नहीं यानिकि ऐसे ही हमारे जीवन में भी हर एक इंसान महत्वपूर्ण हे इसलिए कभी किसी भी इंसान को कम और बेकार नहीं समझना चाहिए। 

✅ अगर आपको भी दीपक की तरह वंदनीय होना हे तो आपको भी दीपक की तरह दुसरो से नहीं बल्कि हमेंशा दुसरो के लिए जलना हे यानिकि अपनी ज़िन्दगी दुसरो के लिए समर्पण करनी होगी जैसे दीपक खुद जलकर दुसरो को रौशनी देता हे वैसे ही हमें भी अपने लिए नहीं बल्कि दुसरो के लिए , दुसरो के जीवन का अंधकार दूर करना हे यानिकि खुद जल जाना हे लेकिन किसी को अँधेरे में नहीं रखना हे। 

✅ दीपक अपनी रौशनी चारो और फैलाता हे लेकिन अपने दिए तले अँधेरा ही रहता हे इसी तरह हर एक अच्छे इंसान में या बुरे इंसान में अच्छी और बुरी आदते होती हे। 

✅ हर एक इंसान को दीपक की तरह समभाव ज़िन्दगी जीना चाहिए यानिकि एक दीपक बादशाह के महल में भी उतनी ही रोशनी देता हे जीतनी गरीब के घर में देता हे वैसी हमें भी किसी को निचा ऊँचा , कम या ज्यादा न मानके सबको एकसमान की दृस्टि से देखना हे।

✅ दीपक की जलती लौ इंसान को अपने जीवन में आगे बढ़ने का संदेश देती हे यानिकि अपने जीवन में अंधकार को दूर करके प्रकाशमय जीवन जीने की प्रेरणा देता हे। 

✅ दीपक बोलता नहीं हे लेकिन दीपक की रौशनी उसकी पहचान देती हे वैसे ही हमें भी अपना परिचय नहीं देना आपके कर्म ही आपका परिचय हे यानिकि आपके कर्म ही आपकी पहचान हे। 

ये जरूर पढ़े। 

जीवन में कर्मो का महत्व 

***************