गाँव पर निबंध - Essay On Village In Hindi

हेल्लो दोस्तों आज हम गांव पर निबंध ( Essay On Village In Hindi ) के बारे में बात करने वाले हे गांव का जीवन शुद्ध और शांतिमय होता हे यहाँ के लोग सादगी भरा जीवन जीते हे हमें उम्मीद हे की आपको ये पोस्ट जरूर पसंद आएगा।

Essay On Village In Hindi

गांव का परिचय

मेरे गांव का नाम रामपुर हे जो बहुत ही छोटा हे और वो गोदावरी नदी पर बसा हुआ हे जिनके चारो और रमणीय पहाड़िया हे जो हमारे गांव की शोभा बढ़ाते हे मेरे गांव के करीबन 2000 लोगो की आबादी हे। गांव का जीवन शहर की तुलना में अलग ही होता हे गांव की आबोहवा में जीना सचमुच आनंदमय होता हे 

गांव में रहने वाले लोग शहर में रहने वाले लोगों से ज्यादा स्वास्थ्य होते हे क्योकि गांव में शुद्ध हवा , वातावरण और प्राकृतिक सौन्दर्य होता हे गांव में रहने वाले लोग ज्यादातर कृषि और पशुपालन पर अपना जीवन गुजार करते हे ये उनके जीवन का आधार होता हे। गांव पर शायरी

गांव का वर्णन

गावो में ही हमें भारतीय संस्कृति के दर्शन होते हे जहा पर लोग सीधे साधे सादगी का जीवन जीते हे यहाँ चारो और हरियाली और शांति ही होती हे यानिकि यहाँ पर आपको घर के आगे ही खेत देखने को मिल जायेंगे जिसमे अनाज , सब्जिया आदि उगाया जाता हे जिसमे सिंचन के लिए ट्यूबवेल , तालाब या नहेर होती हे गांव में लोग खेती के अलवा पशुपालन , मुर्गीपालन आदि कुटीर या लघु उद्योग करते हे और अपना जीवन गुजारते हे। पशुओ का मल - मूत्र खेत में काम आता हे और बैल जैसे पशु को खेत में हल के लिए काम लिया जाता हे। 

शांतिमय जीवन जीने के लिए गांव एक उत्तम स्थान हे क्योकि यहाँ के लोग शहर की तुलना में कम भागदौड़ की जिंदगी गुजारते हे यहाँ के लोग सुबह जल्दी जगते हे और रात के दौरान जल्दी सौ जाते हे गांव में कोई भी कारखाने , रेलगाड़ी और वाहन कम होने से यहां वायु प्रदुषण बहुत ही कम होता हे जबकि भीड़ - भाड़ कम होने से ध्वनि प्रदुषण भी कम होता हे। 

आजादी के बाद मेरे गांव ने बहुत तरक्की की हे मेरे गांव के दक्षिण की और पंचायत घर जिनके पास ही पुस्तकालय और वाचनालय हे जिनमे करीबन 10000 पुस्तके हे लेकिन अगर किसी को पढ़ने के लिए पुस्तक चाहिए तो पहले उसे अपना रजिस्ट्रेशन करवाना होता हे और फिर वो उस पुस्तकों अपने घर पर भी ले जा सकता हे इस तरह मैने भी दस बारा पुस्तके पढ़ी हे और फिर वापस पुस्तकालय में जमा की हे ये था हमारी पुस्तकालय का नियम। 

मेरे गांव में एक प्राथमिक शाला भी हे जिसमे छोटे - छोटे बच्चे शिक्षा प्राप्त करते हे और एक छोटा सा अस्पताल हे जहाँ मरीजों को कम पैसो में इलाज किया जाता हे। मेरे गांव में करीब पांच से छह दुकाने हे जहा से गांव का लोग अपनी जरूरियात चीजे खरीदते हे। 

मेरे गांव के मध्य में एक बहुत ही पुराण रामजी का प्रसिद्ध मंदिर हे जिनकी हर रोज सुबह और श्याम आरती होती हे जिस समय काफी भीड़ होती हे जबकि रामनवमी के अवरस पर रामजी मंदिर के पास एक मेला का भी आयोजन किया जाता हे। मेरा गांव छोटा हे लेकिन मेरे गांव में कई जाती के लोग रहते हे जैसे की कुम्हार , लुहार , दर्जी , धोबी , नाइ आदि भी रहते हे। 

गांव के लोग 

मेरे गांव के लोग बहुत ही महेनतु लोग हे जो सुबह होते हे अपने काम पर लग जाते हे किसान अपने बैलो के साथ खेत में निकल जाते हे मेरे गांव के लोग भी पुराने रीती - रिवाजों को मानते हे लेकिन फिर भी उनके विचार प्रगतिशील हे। गांव में खान - पान की जटिलताए नहीं हे गांव के लोग भोजन में लिली सब्जिया , कठोर और दूध लेते हे जबकि पानी के लिए ट्यूबवेल का या फिर कुए के पानी का इस्तमाल करते हे। 

जंगलो का महत्त्व निबंध

एक आदर्श गांव 

आज के युग में मेरा गांव तेजी से प्रगति कर रहा हे आज के समय में गांव के लोगो को गांव में ही रोजगार मिल रहा हे। गांव के कुछ युवान आज आर्मी में तो कोई पोलिश में अपना फर्ज निभा रहे हे जबकि गांव के कुछ लोग पशुपालन और लघु उद्योग से अपना अच्छा जीवन निर्वाह कर रहे हे। शहरों की कई सुविधाएं अब हमारे गांव में भी हे जैसे की हर घर में बिजली , टेलीफोन गैस की सुविधा हे। आज हमारे गांव का किसान ज्यादातर खेती कार्यो आधुनिक कृषि यंत्रो यानिकि ट्रेक्टर से ही करते हे। गांव के लोग आपस में भाई चारे से रहते हे और कोई भी विवाद को ज्यादातर पंचायत में ही सुलझा देते हे। 

गांव की समस्या

हमारे गांव के लोगो को आज भी कई समस्या का सामना करना पड़ता हे जैसे की अच्छी सड़के और पुलों का निर्माण नहीं जिसकी वजह से गांव से शहर के बिच उचित संपर्क नहीं हे। और बिजली की आपूर्ति और कटौती की वजह से गांव का विकास करना असंभव हे। उचित स्वास्थ्य और उचित स्वस्छता के लिए स्वस्छता की अच्छी सुविधा होना बहुत जरुरी हे यानिकि सरकार को अच्छी स्वस्छता सुविधा की आवश्यकता को बढ़ावा देना चाहिए और सरकार को यह सुनिश्चित करना चाहिए की हर एक गांव में अच्छे अस्पतालों और अच्छी शिक्षित और अनुभवी स्वास्थ्य कर्मचारियों से सुसज्जित हो। 

ये भी पढ़े। 

जल पर निबंध 


" पढ़ने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद "


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें