आत्मविश्वास की जीत - Life Changing Hindi Motivation Story 2020

हैलो दोस्तों आप सभी को में दिल से स्वागत करता हु। के कोई भी गरीब व्यक्ति में आत्मविश्वास हो तो वो कोई भी काम कर सकता हे। और उस के आत्मविश्वास की हमेशा जीत होती हे। इस लिए हर व्यक्ति को अपने अंदर आत्मविश्वास बुलंद रखना चाहिये। हमारे अंदर रखे हुए आत्मविश्वास से हमे आगे बढ़ने का बुलंद हौसला मिलता हे। इस लिए हर व्यक्ति में आत्मविश्वास होना जरूरी हे। तो चलो दोस्तों इस कहानी को देख लेते हे। 

आत्मविश्वास की जीत - Hindi Motivation Story 2020


आत्मविश्वास की जीत - Hindi Motivation Story 2020

        एक गांव था जिसमें एक गरीब परिवार रहता था वो बहुत ही गरीब था उनको खाने पीने की चीजें तक महेनत करके जो सांज को पैसा मिलते थे उनसे खरीदनी पड़ती थी। उस परिवार में चार लोग रहते थे। दो भाई बहन और माता पिता उनमे एक लड़का भी था उस लड़के का नाम राजू था वो 10 वी कक्षा में अभ्यास करता था। और बाकि लोग जो बचे उनमें एक बहन थी जो अभी छोटी थी। और उस लड़के के माता पिता जो रात दिन महेनत करते थे और दो बच्चों को संभालते थे।

       एक गांव था जिसमें एक गरीब परिवार रहता था वो बहुत ही गरीब था उनको खाने पीने की चीजें तक महेनत करके जो सांज को पैसा मिलते थे उनसे खरीदनी पड़ती थी। उस परिवार में चार लोग रहते थे। दो भाई बहन और माता पिता उनमे एक लड़का भी था उस लड़के का नाम राजू था वो 10 वी कक्षा में अभ्यास करता था। और बाकि लोग जो बचे उनमें एक बहन थी जो अभी छोटी थी। और उस लड़के के माता पिता जो रात दिन महेनत करते थे और दो बच्चों को संभालते थे।


      राजू पढ़ाई में बहुत ही अच्छा लड़का था वो बहोत महेनत करता था स्कूल में सर सभी बच्चों से राजू को अच्छा मानते थे। राजू सभी बच्चों के साथ जूल मिल जाता था। और वो हमेशा ही अपने परिवार के बारे में सोचता रहेता था। और वो अपने परिवार के साथ ख़ुश रहेता था। राजू बहोत ही समझदार लड़का था। जो हमेशा बड़े बड़े सपने देखता था। उसकी सोच हमेशा बड़ी ही होती थी। वो अपने आत्मविश्वास के कारण ही बड़े बड़े सपने देखता था। और वो मन ही मन समझदार बनता था।



       एक दिन स्कूल में सर सभी बच्चों को एक निबंध लिखने को दिया।और सभी लड़के निबंघ लिख के लाए उन सबका निबंघ सर ने देखा सबका निबंघ सही था। पर सर ने जब राजू का निबंघ देखा तो सर ने उसे वो निबंघ वापस कर दिया और सर ने कहा की ये निबंघ जूठा हे। तुम कल फिर से निबंध लिख के लाने को कहा। पर राजू ने उस निबंघ को देखा और उनका आत्मविश्वास बढ़ता गया। राजू का आत्मविश्वास होने से वो निबंघ राजू ने कल भी निबंघ सर को दिया सर ने फिर से उसे वापस किया और कहा की ये निबंघ सही नहीं हे। राजू थोड़ा सा निराश हो गया पर उसने हार न मानी और फिर से भी वो ही निबंघ सर को दिया और सरने उसे वापस दिया। ऐसा कई बार हुआ फिर भी राजू का आत्मविश्वास वैसा की वैसा ही रहा।



        राजू ने सर से कहा की आप मानो या ना मानो मेरे घर के बारे में यही निबंघ मेरे मन में आया और मेने यही निबंघ लिखुगा यही हे मेरे घर के बारे में निबंघ राजू ने उसके घर के बारे में काफ़ी लिखा होता हे। उसने निबंघ में ऐसा लिखा होता हे। की मेरा घर बहोत बड़ा होगा। और उस घर में काच बारीया होगी। घर में काफ़ी फ़र्नीचर किया होगा। उसके चारे तरफ इमारतें चणी होगी और बहोत बड़ा गेट भी होगा। आदि राजू ने अपने निबंघ में लिखा था। जब - जब समय बीतता गया और राजू बड़ा होता गया राजू अपनी समझदारी से वो काफी पद पाया और वो नौकरी पर लग गया। और वो काफ़ी पैसा वाला बन गया।



       फ़िर एक दिन जिस स्कुल में राजू पढ़ाई करता था वो स्कुल में से प्रवास के लिए सर बच्चों को लेकर गए थे। जब सही जगह सोने के लिए न होने पर सर बहुत ही चिंता में थे। तभी वहां राजू का कोई दोस्त आया और उसने राजू के घर पर ले गया। जब सर ने देखा तो वह राजू का घर था। वो वही और वैसा ही घर था जो राजू ने अपने निबंघ में लिखा था। सर वो देखकर खुश हो गए। और राजू को गले लगा लिया।


आत्मविश्वास की जीत - Life Changing Story In Hindi 2020

     दोस्तों हमे इस स्टोरी से ये प्रेरणा मिलती हे की हमे हमारे आत्मविश्वास पर विश्वास रखना चाहिये। जो हमारे अंदर आत्मविश्वास होगा तो हम कभी भी रुक नहीं सकते हे। और हमारी ताकत और भी बढ़ सकती हे। इसलिए हमे आत्मविश्वास रखना चाहिये। 


अगर ये आर्टिकल आपको पसंद हे तो आप इस आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ भी सेर करे। 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

close button